गुरुवार, 26 जनवरी 2017

26 जनवरी गणतंत्र दिवस की आपको हार्दिक शुभकामनाए

गणतंत्र दिवस - 26 जनवरी 1950 से भारत देश में मनाया जा रहा है क्योंकि इस दिन भारत देश में भारत का संविधान लागु हुआ था l संविधान को 26 नवम्बर 1949 को भारतीय संसद ने संविधान को अपना लिया व् 26 जनवरी 1950 के दिन इसे लागु किया गया इसलिए आज 26 जनवरी को हम गणतंत्र दिवस मनाते है और पुरे भारत में इसे मनाया जाता है 

शुक्रवार, 20 जनवरी 2017

मतदाता सूची में अपना नाम कैसेे जुडवाऐ?

मतदाता सूची में नाम जूडवाने से पहने निम्‍न बातें जांच ले -
 Go to NVSP

  • आप भारत के नागरिक हैा 
  • मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्यक्रम के वर्ष आपकी उम्र 18 वर्ष या अधिक हो (पुनरीक्षण वर्ष की गणना 1 जनवरी व उपरोक्‍त वर्ष से होती हैा)
  • उस निर्वाचन क्षेत्र के निवासी है जहां आप पंजीक्रत होना चाहते हैा
मतदाता सूची में पंजीकरण 
  • अपने निवास के क्षेत्र की भाग संख्‍या/भाग का नाम व विधानसभा क्षेत्र का नाम, जिले का नाम व राज्‍य का नाम आदि जानकारी इकट़टा करले
पंजीकरण करवाने के दो तरीके है -
1- ऑनलाईन/ई  पंजीयन करवाना 
2- ऑफलाईन/बीएलओं के मार्फत पंजीयन करवाना   

1- ऑनलाईन/ई पंजीयन करवाने के लिए आपको सर्वप्रथम चुनाव विभाग की वेबसाईट http://www.nvsp.in पर फाॅर्म 6 भरना होगा व आवश्‍यक दस्‍तावेज जैसे राशन कार्ड, ड्राइविंग लाईसेंस, मूल निवास, आधार कार्ड, पेन कार्ड, या भारत सरकार/राज्‍य सरकार द्वारा प्राप्‍त पहचान पत्राा यह पुरी प्रक्रिया नि;शुल्‍क हैा ऑनलाईन जमा करवाये गये फॉर्मस का सत्‍यापन र्इआरओं द्वारा किया जाता है जिसके तहत बीएलओं द्वारा आपके दस्‍तावेजो की सत्‍यता जांच व निवास की प्रमाणिकता हेतु निरक्षण किया जा सकता है या किसी अन्य माध्यम से आपके फॉर्म कि जाँच कि जाएगी ये ईआरओ पर निर्भर करता है
अपना फॉर्म पोर्टल पर भरने हेतु यहाँ क्लिक करे और  नेशनल वोटर्स सर्विस पोर्टल पर जाए
यदी आपने पूर्व में ऑनलाइन आवेदन करके रखा है और आप उसकी वर्तमान स्थिति जानना चाहते है तो यहाँ क्लिक करे 
यदी आपके पास रेफ़रन्स आईडी नहीं है तो अपने निर्वाचन क्षेत्र के निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी या  बूथ लेवल ऑफिसर से संपर्क करे और वर्तमान स्थिति कि जानकारी ले 
 या 
2- ऑफलाईन/बीएलओं के मार्फत पंजीयन करवाना  - आप पाेर्टल से फार्म 6 डाउनलोड भी कर सकते हैा फार्म 6 निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी ईआरओं/एईआरओं, बूथ लेवल अधिकारी के कार्यालयों में भी नि;शुल्‍क उपलब्‍ध हैा फार्म को पूर्ण भरकर आप ईआरओं एसडीएम के समक्ष भी प्रस्‍तुत कर सकते है या अपने मतदान केन्‍द्र के अधिकारी यानी बीएलओं को भी यह दे सकते हैाा ऑफलार्इन फॉर्म आप द्वारा जमा करवाए जाने पर उक्‍त की रसीद आवश्‍यकरूप से ले लेवेंा ईआरओं को जमा करवाए जाने वाले फॉर्म्स का सत्यापन बूथ लेवल ऑफिसर द्वारा किया जाता है


फॉर्म संख्या 6 भरते समय आपको अपने परिवारजन(माता/पिता/पति) का रेफेंस देना वैकल्पिक है परन्तु आप इस आप्शन का प्रयोग करते है तो आपका नाम सही जगह व आपके परिवार के साथ ही जोड़ा जायेगा अन्यथा हो सकता है आपका नाम किसी और व्यक्ति के साथ गलती से लिंक हो जाये l
Form No. 6 Already Member's in current Electoral of Constituency
Form No. 6 Already Member's in current Electoral of Constituency

उपर दिखाए गए चित्र में क्रम संख्या भरने हेतु चिन्हित किया गया है जिसके लिए आपको डिटेल निचे दिए गए लिंक से मिल जाएगी या आप अपने राज्य के सीईओ फिर स्टेट का नाम जैसे ceo rajasthan कि वेब साईट से भी आवेदक अपने सम्बन्धी का नाम खोज सकता है राजस्थान राज्य के आवेदक अपना या अपने संबंधी का नाम यहाँ खोजे http://164.100.153.10/electoralroll/Default.aspx
मतदाता सूची में अपना नाम खोजने के लिए यहाँ क्लिक करे 
To search name in electoral



रविवार, 15 जनवरी 2017

अपने मोबाईल पर आधार संख्‍या कैसे प्राप्‍त करें

आधार नंबर मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अपने मेसेज मोबाइल के मेसेज बॉक्स में जाकर लिखे RJ<Space> EID <Space>EID NO. और इसे 51969 पर भेज दे कुछ ही पल में आपको आपकी  UID प्राप्त हो जायेगी
उदाहरण के लिए
RJ EID 12345678901114 TO 51969.

Send SMS 51969 to Get Aadhaar No. Or Enrollment No
How to Get Aadhar No?
TOLL FREE NO. 
UIDAI For All India:1800 300 1947 
UIDAI Helpline No. For Rajasthan : 1800 180 6127

सोमवार, 9 जनवरी 2017

फसल बीमा पोर्टल के उपयोग हेतु मार्गदर्शिका - ई मित्र संचालको के लिए

ई-मित्र संचालकों के लिए
फसल बीमा पोर्टल के उपयोग हेतु मार्गदर्शिका

Øई मित्र सेवा सूची में से फसल बीमा की सेवा सर्च करने के लिये Crop या
Insurance
Ø अपने जिले से सम्बन्धित फसल बीमा कम्पनी की सेवा (service)  का चयन करें।
जिलेवार बीमा कम्पनी व सेवा का विवरण निम्न प्रकार है-

जिले
क्रियान्वयन हेतु चयनित बीमा कम्पनी

चूरू, भीलवाडा, राजसमन्द, बूंदी, सीकर,जैसलमेर, कोटा, सिरोही
यूनाइटेड इन्डिया इन्श्योरेन्स कम्पनी लिमिटेड
service name

United India IC - Crop Insurance form filling
अलवर, डूंगरपुर, जोधपुर, बाड़मेर, धौलपुर, हनुमानगढ, बांरा, बीकानेर, चित्तौड़गढ, टोंक, जयपुर, भरतपुर, दौसा, पाली, प्रतापगढ़
एग्रीकल्चर इन्श्योरेन्स कम्पनी ऑफ इन्डिया लिमिटेड
service name
Agriculture IC - Crop Insurance form filling
बांसवाडा,झालावाड,नागौर,करौली,झुन्झूनू
चोला मण्डलम, एम.एस जनरल इन्श्योरेन्स कम्पनी लि
service name
Cholamanandalam MS GIC - Crop Insurance form filling
अजमेर, गंगानगर, जालौर, सवाईमाधोपुर, उदयपुर
इफ्को-टोकियो जनरल इन्श्योरेन्स कम्पनी
service name
IFFCOTOKIO GIC - Crop Insurance form filling





New Form (नया फार्म ) पर क्लिक करें। इससे एप्लीकेशन फार्म पर Non- Loaned Farmer  अर्थात्‌ गैर-णी कृषक के लिये आवेदन पत्र दिखाई देना।


स्टेप 1-
·        कृषक का बैंक विवरण बचत खाता संखया (Saving Bank Account Number ) दर्ज करें, ग्यारह अंकों  का IFSC   कोड दर्ज करें।
·        कृषक का प्रकार (खातेदार/बटाईदार) का चयन करें
बैंक अकाउण्ट की पास बुक का प्रथम पेज जिस पर कृषक का विवरण  अंकित है उसे स्केन करके अपलोड करें। बटाईदार है तो बटाईदार सर्टिफिकेट को स्केन करके अपलोड करना अनिवार्य है।

·        स्टेप 2- कृषक का विवरण
·        कृषक का भामाशाह नम्बर दर्ज करें।
·        भामाशाह नम्बर नहीं है तो BID वाले बॉक्स में से ACKID चयन करके भामाशाह पंजीयन क्रमांक दर्ज करें।
·        भामाशाह के डेटा से अगर आधार नहीं आता है तो कृषक का आधार नम्बर दर्ज करें। आधार नम्बर नहीं है तो UID वाले बॉक्स में से आधार पंजीयन (EID) का चयन कर, आधार पंजीयन नम्बर दर्ज करें।
·        कृषक की श्रेणी General/ SC/ST/OBC/ चयन करें।
·        कृषक का मोबाइल नम्बर दर्ज करें।
कृषक का स्वयं का लिंग Male/Female दर्ज करें। कृषक का पता दर्ज  करें।

स्टेप 3-
·        खाता संखया 1 (कृषक के नाम जो जमीन है उसमें अंकित खाता संखया)
·        जिले का चयन करें, तहसील व गॉव का चयन करें
·        कृषक की जमाबंदी/राजस्व पासबुक में से खाता संखया दर्ज करें। रिकॉर्ड में नई व पुरानी खाता संखया दोनों अंकित होने पर नई खाता संखया इस पोर्टल पर दर्ज करनी है।
·        दर्ज किये गये खाते में अंकित क्षेत्रफल भरें।
·        खाते में अंकित अनुसार बीमा करवाने वाले कृषक का हिस्सा दर्ज करें। उदाहरण के लिए एक बटा दो के लिए 1/2 तथा तीन बटा चार के लिए  3/4 दर्ज करें।
·        अब फसल का चयन करें।
·        चयनित फसल के बोए गए क्षेत्र को दर्ज करे
फसल का क्षेत्रफल हैक्टेयर में होगा तो एक बॉक्स ही दिखाई देगा । फसल का क्षेत्रफल बीघा-बिस्वा में होने पर दो बॉक्स दिखाई देंगे। उदाहरण के लिये 3 बीघा 5 बिस्वा जमीन होने पर पहले बॉक्स में  3 ( बीघा) दूसरे में 5
(बिस्वा) अंकित करें।
प्रीमियम की प्रति हैक्टेयर दर, कुल प्रीमियम, प्रीमियम में कृषक का   हिस्सा
·        (कृषक द्धारा देय प्रीमियम) आदि फसल के क्षेत्रफल के अनुसार अपने आप गणना होकर दिखाई देने लगेंगे।
·        अब इसी तरह Add Another      वाले बटन पर क्लिक करके उसी  कृषक की उसी खाते में दूसरी फसल के बीमा हेतु सूचनाएं दर्ज कर सकते हैं।
·        जमाबन्दी की नकल व गिरदावरी सर्टिफिकेट को स्कैन करके अपलोड करना अनिवार्य है।
Add Khata पर क्लिक करके
इसी तरह उसी कृषक के दूसरे खाते में उगाई गई फसलों के विवरण  अनुसार बीमा के लिए सूचना दर्ज कर सकते हैं।

7 हैक्टेयर फसल के बीमा तक प्रीमियम की गणना अनुदानित दर पर होगी। कृषक यदि 7 हैक्टेयर से अधिक क्षेत्र का बीमा करवाता है तो  बाकी
क्षेत्रफल के प्रीमियम की गणना पूरी दर पर की जाएगी।
स्टेप चार
·     अब कृषक का गॉव, खाता संखया, फसल, अनुदानित प्रीमियम के  तहत क्षेत्रफल, गैर अनुदानित प्रीमियम के तहत क्षेत्रफल (यदि हो तो) प्रीमियम दर, कुल प्रीमियम व कृषक द्धारा देय प्रीमियम (फार्मर शेयर) आदि का विवरण स्वतः स्क्रीन पर आ जाएगा।
·     अब PREVIEW पर क्लिक करने पर पूरा फॉर्म वापिस दिखेगा, साथ में EDIT का बटन भी दिखेगा। यदि कोई सूचना EDIT करनी हो तो कर सकते हैं  अन्यथा SUBMIT बटन पर क्लिक करते ही बीमा की पॉलिसी सिस्टम में दर्ज हो जाएगी।
DISCARD बटन का उपयोग केवल तब ही करें जब पूरा फॉर्म RESET करके वापिस भरना हो।

नोटः- ई-मित्र द्वारा फसल बीमा हेतु कृषक का आवेदन निःशुल्क दर्ज किया जायेगा अर्थात्‌ कृषक से फसल बीमा का आवेदन दर्ज करने के बाबत कोई राद्गिा वसूल नहीं की जायेगी। केवल निर्धारित प्रीमियम कृषक से लिया जायेगा। वसूल की गई प्रीमियम की राद्गिा की रसीद कृषक को अनिवार्य रूप से दी जाए।

गुरुवार, 5 जनवरी 2017

How to use bhim App? भीम ऐप का उपयोग कैसे करें

✔ *भीम एप्प का उपयोग कैसे करें।*
➖1. सबसे पहले Google Play Store से BHIM App Download करें।
➖2. उसके बाद अपने Bank Account को इस App में Register करें।
➖ 3. Register करने के साथ अपने लिए एक UPI Pin Set Up करें।
➖ 4. User का Mobile Number ही उसके Payment का Address होगा।
➖ 5. एक बार आपका Registration पूरा होने के बाद आप अपने Transaction BHIM App में शुरू कर सकते हैं।
✔ *BHIM App द्वारा पूरी जानकारी भीम एप्प पैसे कैसे भेज सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं ??*
➖ 1. BHIM App पर अपने आप अपने दोस्तों, दूर बैठे परिवार के लोगों और उपभोगताओं को भी भेज सकते हैं।
➖ 2.भीम एप्प पर सभी Transaction Registered मोबाइल नंबर यानि की Payment Address पर भेजा जा सकता है।
➖ 3.आप बिना UPI सुविधा वाले बैंकों में भी पैसे Transfer कर सकते हैं।
उसके लिए आप MMID और IFSC सुविधा की मदद ले सकते हैं।
➖ 4.आप किसी अन्य Registered Mobile Number या User से Money Receive करने के लिए Request भी भेज सकते हैं।
✔ *BHIM App में Bank Account के लिए UPI Pin कैसे Set करें?*
➖ 1. सबसे पहले BHIM App के Main Menu में जाएँ।
➖ 2. उसके बाद Bank Accounts को Select करें।
➖ 3. उसके बाद Set UPI Pin, Option को चुनें।
➖ 4. उसके बाद आपको अपने ATM/Debit Card का 6 Digit वाला Number डालना होगा अपने Card के Expiry Date के साथ।
उसके बाद आपके पास एक OTP प्राप्त होगा।
➖ 5. उसको App में Dial करने के बाद आप अपना UPI Pin बना सकते हैं।
✔ *कौन से बैंक भीम एप्प में सपोर्ट करते हैं?*
इलाहाबाद बैंक.. आंध्रा बैंक.. एक्सिस बैंक.. बैंक ऑफ बड़ौदा.. बैंक ऑफ इंडिया.. बैंक ऑफ महाराष्ट्र.. केनरा बैंक.. कैथोलिक सीरियन बैंक.. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया.. डीसीबी बैंक.. देना बैंक..  फेडरल बैंक.. एचडीएफसी बैंक.. आईसीआईसीआई बैंक.. आईडीबीआई बैंक.. आईडीएफसी बैंक.. इंडियन बैंक.. इंडियन ओवरसीज बैंक.. इंडसइंड बैंक.. कर्नाटक बैंक.. करूर वैश्य बैंक.. कोटक महिंद्रा बैंक.. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स.. पंजाब नेशनल बैंक.. आरबीएल बैंक.. साउथ इंडियन बैंक.. स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक.. भारतीय स्टेट बैंक.. सिंडिकेट बैंक.. यूनियन बैंक ऑफ इंडिया.. यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया.. विजया बैंक।
*BHIM App से अन्य जानकारियाँ*.
➖BHIM App के इस्तेमाल करने वाले User अपना Balance भी Check कर सकते हैं और अपने Transaction से जुडी जानकारियाँ भी।
➖Users अपने Phone Number पर अदिकतर तौर पर Custom Payment Address भी बना सकते हैं।
➖जल्द से जल्द Transaction को पूरा करने के लिए आप QR Code Scan करने से भी कर सकते हैं।
➖सबसे ज़बरदस्त बात है BHIM App English (अंग्रेजी) और Hindi (हिंदी) दोनों भाषाओं में आप इस्तेमाल कर सकते हैं।
*सरकार का कहना है आप जल्द ही BHIM App को अन्य भाषाओँ में भी उपयोग कर सकेंगे।*
*देशहित और जनहित में शेयर करें* 

facebook