रविवार, 28 मई 2017

जानिये सरकार ने आपके ग्राम के विकास के लिए कितने रुपे दिए व आपकी ग्राम पंचायत ने कितने खर्च किये ?

 सभी ग्राम साथियो
महत्वपूर्ण समाचार - भारत सरकार ने देश की सभी ग्राम पंचायतो द्वारा किये गये कार्यों को ग्राम वार आंकड़े तैयार करवाए है ताकि ग्राम वासी जान सके की उनकी ग्राम पंचायत ने किस साल/वर्ष में कितना कार्य उनके गाँव में किया व उसका कितना खर्चा आया इसे मुख्य तौर पर ग्राम पंचायत डेवलपमेंट प्लान (GPDP) कहते है जिसमे की सरकार पहले ग्राम पंचायत से पुरे वर्ष में किये जाने वाले मुख्य कार्यों को ग्राम पंचायत स्तर से ऑनलाइन अपलोड करवाती है जिसे की मासिक/त्रेमासिक/अर्धवार्षिक/वार्षिक रूप में ग्राम पंचायत अपलोड करती है l अब इस डाटा को अब आपके सामने एकीकृत रूप में रखने के सरकार ने ये अभूतपूर्व कदम उठाया है 
अपने ग्राम/ग्राम पंचायत द्वारा किये गए खर्च का पता कुछ इस प्रकार लगाया जा सकता है 
१- दिए गए लिंक को खोले  http://www.planningonline.gov.in/ReportData.do?ReportMethod=getAnnualPlanReport 
2- वित्त वर्ष का चयन करे जैसे 2014-2015, 2015-2016 आदि 
3- राज्य का चयन करे 
4- Plan Unit Type में जिला पंचायत / ब्लाक पंचायत / ग्राम पंचायत का चयन करे 
5-  जिले का चयन करे 
यदि आपने ब्लाक पंचायत/ग्राम पंचायत  का चयन किया है तो आगे के ऑप्शन खुलेंगे
6- ब्लाक का नाम - ब्लाक का चयन करे जैसे नावा 
7- ग्राम पंचायत का चयन करे - जैसे बरजन 

इस प्रकार आप अपनी ग्राम पंचायत के द्वारा करवाए गये विकास कार्यो को ऑनलाइन देख सकते है साथ ही यह भी पता लगा सकते है की इस साल ग्राम पंचायत ने कितने रुपयों का विकास कार्य करवाया 
नोट ;- यदि ग्राम पंचायत ने डाटा अपलोड नही किया है तो आप यह पे रिपोर्ट में कुछ नही आयेगा जैसे की निचे स्क्रीन शॉट में दे रखा है
Rural India Standing India
http://www.planningonline.gov.in/ReportData.do?ReportMethod=getAnnualPlanReport

मैं क्या करू?
उत्तर -
सरकार एक छोटे से भी काम के लिए  कितना पैसा देती है। अब आपको और  हमें  जागरूक होने की जरूरत है .सभी जानकारियां सरकार ने ऑनलाइन वेबसाइट पे उपलब्ध करा दी है बस हमे उन्हें जानने की जरूरत है यदि हर गांव के सिर्फ कुछ  युवा ही इस जानकारी को अपने गांव के लोगो को बताने लगे तो समझ लो 50% भ्रष्टाचार तो ऐसे ही कम हो जाएगा। इसलिए दोस्तो आपसे गुजारिश है कि आप अपने गांव में वर्ष 2016-17 मे हुए कार्यो को जरूर देखें और इस लिंक को देश के हर गांव तक भेजने की कोशिश करे ताकि गांव के लोग भी यह जान सके की सरकार ने कितना पैसा गाँव में खर्च करने के लिए दिया व कितना पैसा वास्तव में खर्च किया गया व कहा किया गया l 

Keep Sharing The Information

रविवार, 21 मई 2017

भारतीय दण्ड संविधान की धाराए जिनके द्वारा कर्मचारी अपने हितों की रक्षा कर सकता है

  सरकारी कर्मचारियों को सुरक्षा प्रदान करने हेतु भारतीय दण्ड संहिता अंतर्गत विभिन कानून/ धाराए है
यदि कोई व्यक्ति सरकारी परिसर में निम्न से कोई गुनाह करता है तो उसे भारतीय संविधान की विभिन्न धाराओ के तहत सजा का प्रावधान है l सभी कर्मचारी अपने अधिकारों को जाने व दोषियों के खिलाफ सख्त क़ानूनी कार्यवाही करवाए 
क्रम स. भारतीय दण्ड संविधान की         धारा                        गुनाह                 सजा
1 धारा  354  सरकारी कार्य में रुकावट डालना 2 वर्ष का सश्रम कारावास
2 धारा  504 सरकारी कर्मचारी से वाद विवाद करना 2 वर्ष का सश्रम कारावास
3 धारा  504 सरकारी कर्मचारी से अपशब्दों का प्रयोग करना 2 वर्ष का सश्रम कारावास
4 धारा  506 सरकारी कर्मचारी को धमकी देना 3 से 7 वर्ष का सश्रम कारावास
5 धारा  332 सरकारी कर्मचारी से मारपीट करना 3 से 10 वर्ष का सश्रम कारावास
6 धारा  383,384,386 सरकारी कर्मचारी से वसूली मांगना/ब्लैकमेल करना  3 से 10 वर्ष का सश्रम कारावास
7 धारा  420 सरकारी कार्यालय में जबरदस्ती प्रवेश करना 2 वर्ष का सश्रम कारावास
8 धारा  378 सरकारी सम्पति को नुकसान पहुचाना  3 वर्ष का सश्रम कारावास
9 धारा  378,379 सरकारी दस्तावेज चोरी करना 3 वर्ष का सश्रम कारावास
10 धारा  378,389 सरकारी दस्तावेजो को नुकसान पहुचाना  3 वर्ष का सश्रम कारावास
11 धारा  141,143  अनाधिकृत व्यक्तियों का जमाव 6 महीने का सश्रम कारावास
12 धारा  146,148,150 सरकारी सरकारी कार्यालय में गड़बड़ी करना / बल व हिंसा का प्रयोग करना 6 महीने से 2 वर्ष तक का सश्रम कारावास

शनिवार, 20 मई 2017

How to Re-Register on New CSC E-Mitra Portal?





CSC ने अपना नया पोर्टल लांच कर दिया है जिस पर की पूर्व में रजिस्टर CSC इ मित्र धारको को पुनः रजिस्टर/ पंजीकृत होना होगा जिसके विस्तृत दिशा निर्देश निचे दिए हुए है 

Links - register.csc.gov.in
यदि आप CSC पर पहले से पंजीकृत है तो आपको Re-Register करना जरुरी है और यदि आप CSC इ मित्र धारक बनना चाहते हो तो रजिस्टर पर क्लिक करके बना जा सकता है



Download Instructions
1. CSC Re-Registration/Registration कैसे रजिस्टर करे CSC पोर्टल पर पुरे दिशा निर्देश डाउनलोड करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे    https://drive.google.com/file/d/0B90ksrfAZe4uQWh4T1UyamdYYlE/view?usp=sharing
2. Digi Pay Guideline/Handbook / डीजी पे के बारे में दिशा निर्देश डाउनलोड करने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे   
https://drive.google.com/file/d/0B90ksrfAZe4uTUg5UnNyWDlJM0U/view?usp=sharing
3. प्रधान मंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के बारे में दिशा निर्देश पढने व डाउनलोड करने के लिए यहाँ लिंक पर क्लिक करे 
https://drive.google.com/file/d/0B90ksrfAZe4uWG1ya0Zud3hZMEE/view?usp=sharing

गुरुवार, 18 मई 2017

How to know IFSC CODE OF your Old sbbj in SBI?

*SBBJ के SBI में merger पर नए IFSC code के लिए:*
पुराने नं• में SBBJ की जगह SBIN लिख दें और 21000 जोड़ दें
*नया IFSC कोड बन जायेगा*
उदाहरण के तौर पर
SBBJ0010152
           +21000
की जगह नया कोड
SBIN0031152
इस तरह आप अपनी किसी भी SBBJ ब्रांच IFSC कोड sbi ifc कोड में प्राप्त कर सकते हैं

शुक्रवार, 12 मई 2017

मेदिक्लैम का फायदा किस प्रकार लिया जा सकता है ?

*मेडीक्लेम का फायदा लेने के लिए प्रारम्भ  से क्या प्रक्रिया अपनानी होगी जानिए  पूरी प्रक्रिया :-

*सर्वप्रथम आपका मेडिक्लेम कार्ड बना हुआ होना चाहिए*
*जिस हॉस्पिटल से स्वास्थ्य लाभ ले रहे है वो मेडिक्लेम हॉस्पिटल्स की लिस्ट में होना चाहिए*
*हॉस्पिटल में अपने मेडिक्लेम कार्ड की फोटो कॉपी submit करवा दें*
*सभी bills,रिपोर्ट्स आदि को सुरक्षित रखे क्योंकि इसी के आधार पर आपका मेडिक्लेम बिल बनेगा*
*स्वास्थ्य लाभ के पश्चात*
*आपको 2 पेज का फॉर्म मेडिक्लेम फॉर्म भरना होगा जिसमें सभी डिटेल्स भर लें*
*हॉस्पिटल डिपार्टमेंट आपको सभी bills, रिपोर्ट पर डॉक्टर्स के sign with seal लगाकर,फॉर्म पर भी वेरीफाई करेंगें और डिस्पेच रजिस्टर में एंट्री कर आपको दे देंगे*
*इस फॉर्म को अपने DDO से भी वेरीफाई करवाना है*
     *ऑनलाइन प्रक्रिया*
*आपकी sso id होनी चाहिए* यदि नही बनी हुई है तो यहाँ क्लिक करे 

*sso.rajasthan.gov.in➡SIPF
Link ओपन करें
*GIF  ➡ Transation  ➡ RAJmediclaim को select करें*
*यहाँ आपको निम्न ऑप्शन्स मिलेंगे*⬇⬇

1.Employee details
2.patient detail(यहां आपको पेसेंट का नाम सेलेक्ट करना है व अन्य जानकारी भरनी/डालनी  है
नोट-जिस family मेंबर का ट्रीटमेंट/उपचार करवाया है उसका नाम आपकी SSO ID में होना चाहिए यदि आपके मेडिक्लेम कार्ड में उनका नाम है और यहां दिख नही हो रहा है तो अपने DDO/वेतन आहरण  से add करवा लें)
3.Hospitalization details
(इसमे आपको सम्बंधित हॉस्पिटल को सेलेक्ट करना है और अन्य डिटेल्स भी भरनी है)
4.Expenditure detail
(इसमे आपको claim amount भरनी है ध्यान रहे जितने के bills है उतनी ही amount भरें)
5.Payment details
6.Bank details
7.Upload document
(इस को ओपन करने पर आपको आवश्यक डोक्युमेटन्स की लिस्ट मिलेगी जिसके आगे चेक बॉक्स बना हुआ है आप जिस चेक बॉक्स को क्लिक करेंगे browse ओपन होगा और सम्बंधित फाइल को सेलेक्ट कर upload कर दे ये प्रक्रिया सभी डाक्यूमेंट्स के लिए दोहराएं
नोट-निश्चित size की ही JPG या PDF फाइल अपलोड होगी (अगर अपलोड बड़े साइज की फाइल करेंगे तो error show होगा की इतने साइज की ही फाइल upload कर सकते है)
*अब  SUBMIT कर दें*
*आपके मोबाइल पर मेडिक्लेम नम्बर और ddo को फॉरवार्डिंग का msg आ जायेगा*
*इसकी detail आप pending टास्क और my transaction में show करेगा*
*अब अपने ddo से संपर्क कर आगे फॉरवर्ड करवाएं और अपने ओरिजनल फॉर्म और bills sipf ऑफिस भेज दें*....
*Stay Aware Stay Safe*

facebook